पाकिस्तान की जेल से रिहा होकर घर पहुंचा छत्तीसगढ़िया युवक

0
160

जांजगीर चांपा से ब्यूरो चीफ दीपक कुमार यादव की खास रिपोर्ट

जांजगीर चांपा। जिले के मालखरौदा क्षेत्र के पिहरीद गांव का घनश्याम जाटवर, पाकिस्तान के इस्लामाबाद में कैद था, जिसकी रिहाई हो गई है। पाकिस्तान से युवक घनश्याम जाटवर, अमृतसर पहुंच गया था। उसको घर सही सलामत वापस लाने के लिए मालखरौदा और जांजगीर से टीम गठित कर घर लाया गया है।

क्या है पूरा मामला

दरअसल जिले के मालखरौदा क्षेत्र के पिहरीद गांव के घनश्याम जाटवर, अपने परिवार के साथ साल 2014 में जम्मू के नवाशहर के ईंट भट्ठे में कमाने-खाने गए थे। यहां युवक घनश्याम लापता हो गया। परिजन ने काफी खोजबीन की, लेकिन कुछ पता नहीं चलने पर वे वापस अपने गांव पिहरीद आ गए। . इस बीच परिजन को पता चला कि युवक घनश्याम, बीएसएफ कैम्प अमृतसर में है। जब परिजन वहां पहुंचे तो बीएसएफ के अधिकारियों ने बताया कि युवक ने बॉर्डर पार कर लिया है और पाकिस्तान पहुंच गया है।

इसे भी पढें: पांच अंचलों से खिसकी कांग्रेस की सियासी जाजम

कैसे पाकिस्तान से रिहा हुआ घनश्याम


इसके बाद परिजन ने सरकार से गुहार लगाई, लेकिन युवक का पता नहीं चला। 2 साल पहले तात्कालीन सांसद कमला पाटले ने तात्कालीन विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को चिट्ठी लिखकर परिजन की गुहार से अवगत कराया था। उसके बाद युवक के पाकिस्तान के इस्लामाबाद में होने की जानकारी सामने आई थी ।अब परिजन के लिए खुशी की खबर है कि युवक घनश्याम जाटवर की पाकिस्तान से रिहाई हो गई है। और घर वापसी भी हो गई, युवक घनश्याम जाटवर के भाई सुशील जाटवर ने केंद्र सरकार और राज्य सरकार सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया है कि उनका भाई सही सलामत घर वापस आ गया है ।

इसे भी पेंट :ठाकुर रविंद्र सिंह ने दिया कांकेर की बुजुर्ग महिला को आँखों की रोशनी का तोहफ़ा….