इंटक से कुछ लोगों को क्यों लग रहा डर : प्रदेश अध्यक्ष

0
159


रायपुर। आखिर लोगों को इंटक से डर क्यों लगता है? यह सवाल भारतीय राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस के छत्तीसगढ़ के अध्यक्ष ठाकुर राकेश सिंह बैस ने उठाया है। उन्होंने कहा कि आज इंटक छत्तीसगढ़ के 19 जिलों में स्थापित हो चुकी है। मजदूरों के लिए पूर्ण समर्पण भाव से कार्य कर रही है। इसके साथ उन्होंने दुख जताते हुए यह भी कहा कि कुछ लोग इंटक का दुरुपयोग कर रहे हैं जो कि निहायत दुखद है।

क्या हैै पूरा मामला

भारतीय राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस (इंटक)के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉक्टर अशोक चौधरी ने 2012 में गांधी भवन, हैदराबाद में इंटक के निर्वाचन में तब जीत हासिल की जब 2007 में संजीवा रेड्डी को हमारी कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गाँधी के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करने के कारण हटा दिया गया था ।
2012 से लेकर आज पर्यंत तक डॉक्टर अशोक चौधरी राष्ट्रीय अध्यक्ष के तौर पर कार्यरत हैं, एवं भारत वर्ष में मजदूर हितों के लिये संघर्ष करते आ रहे हैं ।
2019 नवंबर 11 को राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉक्टर अशोक चौधरी एवं छत्तीसगढ़ के प्रभारी एवं राष्ट्रीय सचिव गोपाल कृष्ण त्रिपाठी ने राष्ट्रीय महासचिव एवं यूपी से पूर्व सांसद साथ ही प्रियंका गांधी के अति विश्वासपात्र कमांडो की उपस्थिति में मुझे होटल संग्रीला में प्रदेश अध्यक्ष के पद पर नियुक्ति प्रदान की ।

छत्तीसगढ़ के 19 जिलों में चल रही है इंटक


आज छत्तीसगढ़ इंटक 19 जिलों में स्थापित हो चुकी है एवं अपने संगठन की गरिमा के अनुरूप मजदूर हितों को ध्यान में रखते हुये ईमानदारी से कार्यरत है,। इससे कुछ लोगों के पेट मे दर्द होने लगा है ।
कुछ फर्जी लोगों द्वारा इंटक के नाम से संगठन बनाकर वसूली एवं फर्जीवाड़ा कर रहे हैं । लोगों पर प्राणघातक हमला करने जैसी घटनाओं को अंजाम दिया जा रहा है ,जो कि शर्मनाक है ।

कब हुई थी इंटक की स्थापना


इंटक सन 1947 मई 3 को महात्मा गांधी , प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू एवं सरदार वल्लभभाई पटेल द्वारा बनाई गई संस्था है, जिसका उद्देश्य मजदूर हित था ।
आज छत्तीसगढ़ में राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस मेरे यानी राकेश सिंह बैस की अध्यक्षता में मजदूर हितों की आवाज उठाते हुये उनके अधिकारों की लड़ाई लड़ रही है । प्रत्येक श्रमिक मजदूर को उनका अधिकार दिलाने वचनबद्ध है । साथ ही ऐसे कई स्थानों पर मेरे एवं जिलाध्यक्षों के द्वारा मुआवजा से लेकर न्याय दिलाने का कार्य किया गया है, जिसका स्पष्ट उद्दाहरण सोशल एवं प्रिंट मीडिया के द्वारा आप सभी लोगों के समक्ष उजागर हुआ है ।
वैसे ही आज की तारीख में राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस जिला गौरेला, पेंड्रा मरवाही में अपना कार्य ईमानदारी पूर्वक करती आ रही है, जिसमें पूरे जिले में 10000 (अक्षरी दस हजार) लोग जुड़ चुके हैं । एवं आगामी उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी को जिताने वचनबद्ध हैं ।
विधायक मंत्री बनकर या संगठन के प्रमुख पदों में बैठकर ऐसा कोई भी निर्णय लेने के पूर्व एक बार विचार अवश्य करे की कांग्रेस विचारधारा के अनुकूल कार्य करने वाले प्रत्येक संगठन को बढ़ावा देते हुये सबको साथ लेकर चलने का प्रयास करें ।