Big Breaking : भारतीय वुशू टीम के कोच कुलदीप हांडू को द्रोणाचार्य पुरस्कार

0
43

जम्मू – कश्मीर। मेरा जन्म श्रीनगर में हुआ था। 1990 में हमारे जम्मू प्रवास के बाद, मेरे माता-पिता आर्थिक कठिनाइयों से गुज़रे। प्रारंभ में, मैंने ताइक्वांडो सीखा और फिर वुशू में स्विच किया। भारतीय वुशू टीम के कोच कुलदीप हांडू, जम्मू और कश्मीर से द्रोणाचार्य पुरस्कार के पहले कश्मीरी हैं।