कहां हुआ “बाढ़ के बांकुरों” का सम्मान

0
169

पटना । जिस बाग में कोयल का बसेरा नहीं होता, उस बाग के दामन में सवेरा नहीं होता ।जिस शख्स ने पोंछे हों किसी आंख के आंसू, उस शख्स की रातों को अंधेरा नहीं होता । जी हां, बिहार में भीषण बाढ़ से विभीषिका झेल रहे रोते क्लब के लोगों के आंसू पहुंचने के लिए जिन युवा “बाढ़ बांकुरों” के हाथ उठे, जिन्होंने अपनी जिंदगी की परवाह न करते हुए लोगों की जान बचाने और उन्हें राहत पहुंचाने के लिए गले भर पानी में उतर कर गांव के चक्कर लगाए । उन्हें शनिवार को सम्मानित किया गया। इन बहादुर युवाओं ने बाढ़ की विभीषिका के दौरान लोगों तक उनकी जरूरत के सामान न सिर्फ पहुंचाए, बल्कि अक्षम लोगों को अपने कंधों का सहारा भी दिया। इनके अतुलनीय कार्य ,अद्भुत कौशल और पराक्रम की चारों तरफ प्रशंसा हो रही है।

गोल इंस्टीयूट ने किया सम्मान

बाढ़ विभीषिका राहत समूह की तरफ से किये गये सराहनीय कार्यों के लिए लिए आज गोल इंस्टीट्यूट ने पूरी टीम का मनोबल बढ़ाते हुए सम्मान समारोह का आयोजन किया। इसमें टीम की तरफ से ग्राउंड जीरो पर काम करने वाले युवाओं समेत अन्य जितने भी लोगों ने इस मुहिम में अहम भूमिका निभाई थी. सभी को सर्टिफिकेट देकर सम्मानित किया। साथ ही कई दिग्गज और समाजसेवी भी जो इस मुहिम से जुड़े रहे , उन्हें मोमेंटो देकर उनका मनोबल बढ़ाया और आगे ऐसे ही सराहनीय कार्यों के लिए प्रेरित किया।

इन बाढ के बांकुरों का हुआ सम्मान

डॉ रामेश्वर सिंह, राजीव रंजन,मनीष रंजन उर्फ मिंकू सिंह , डॉक्टर अभिषेक रंजन , डॉक्टर नंदी ग्रेस स्कूल के संचालक डॉक्टर एलोरा नंदी , रियाज अली शाहिल , R m पब्लिक स्कूल के संचालक विकाश कुमार सिंह , बरौली प्रखंड के उप प्रमुख उपेंद्र सिंह , डॉक्टर R p सिंह , दीपक सिंह कश्यप , जैसे दिग्गजों को सम्मानित किया गया। सम्मानित लोगों ने गोल इंस्टीट्यूट के एमडी विपिन कुमार का धन्यवाद किया। क्योंकि गोल इंस्टीट्यूट न सिर्फ इस मुहिम से जुड़ा बल्कि उसने मुहिम से जुड़े लोगों का मनोबल भी बढ़ाया। जो कि कम ही संस्थान कर पाते हैं।

बिहार पुलिस एसोसिएशन के अध्यक्ष मृत्युंजय कुमार सिंह ने दिया धन्यवाद

वहीं बिहार पुलिस एसोसिएशन के अध्यक्ष मृत्युंजय कुमार सिंह का भी सम्मानित लोगों ने धन्यवाद किया। इन सब के बाद मुहिम की शुरुआत करने और टीम को लीड करने वाले काली प्रसाद सिंह जो कि खुद गोल इंस्टीट्यूट से जुडे़ हैं उन्हें उनकी टीम ने अंगवस्त्र देकर सम्मानित किया। सम्मान पाकर काली प्रसाद सिंह ने कहा कि यह सम्मान पाकर मैं वाकई भाव-विभोर हूं। बात सम्मान की नहीं है बात है कि जब आपके कार्यों की सराहना होती है, तो अंदर से सुकून मिलता है। आपका अपना जमीर अंदर से कहता है कि आपने कुछ अच्छा किया और असल सम्मान वही है। वही कार्यक्रम की सबसे खास बात यह रही कि यह सम्मान समारोह जिस होटल में आयोजित किया गया था उस होटल के मालिक और समाजसेवी मनीष रंजन उर्फ मिंकु सिंह ने टीम की प्रतिभावान लड़की सृष्टि सिंह जोकि ताइक्वांडो की प्लेयर भी हैं उनकी 1 साल की ट्रेनिंग का पूरा खर्चा वहन करने की बात कही। वहीं दूसरी ओर टीम की दूसरी साथी पल्लवी सिंह की पढ़ाई का खर्चा समाजसेवी कोचिंग संस्थान के संचालक राजीव रंजन ने उठाया है। जो कि इस टीम लिए गर्व की बात है। वहीं इस मुहिम से जुडे़ डॉ अभिषेक जी एक ऐसी शख्सियत हैं जो पेशे से ना सिर्फ डॉक्टर हैं बल्कि इन्होंने यूपीएससी की परीक्षा भी क्वालीफाई की है बावजूद इसके इन्होंने समाज के लिए कुछ करना और समाज को अपनी सेवा देना ज्यादा जरूरी समझा। और इसी के तहत वह इस मुहिम से जुड़े। वही इस मुहिम से जुडे़ दीपक सिंह जी भी एक ऐसी शख्सियत हैं जिन्होंने गांव के हर तबके तक अपनी मदद का हाथ बढ़ाया है। अपनी जान जोखिम में डालकर इन्होंने दूसरे की जान बचाई है जो कि वाकई में काबिले तारीफ है। इस कार्यक्रम के बाद मुहिम से जुडे़ सभी लोगों ने गोल इंस्टीट्यूट को धन्यवाद दिया।