Asian Weresling Championship : दिव्या काकरन ने गोल्ड मेडल जीतकर बढ़ाया भारत का मान, 3 भारतीय महिलाएं फाइनल में

0
77

नई दिल्ली। Asian Wrestling Championship एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप में गुरुवार को दिव्या काकरान में गोल्ड मेडल जीतकर भारत का मान बढ़ाया । स्वर्ण पदक जीतने वाली दिव्या काकरान (Divya Kakran) भारत की दूसरी महिला पहलवान बन गई। उन्होंने अपने सभी मुकाबले अपने प्रतिनिधियों को चित करके जीते । इनमें जापान की जूनियर विश्व चैंपियन नारू हा मात्सुयुकी को हराना भी शामिल रहा ।दिव्या ने 68 किलोग्राम वर्ग में अपने सभी चार मुकाबले जीते जो राउंड रॉबिन प्रारूप में खेला गया ।

नवजोत कौर बनी पहली स्वर्ण पदक विजेता :

नवजोत कौर (Navjot kaur) एशियाई चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला पहलवान बनी थी, जिन्होंने 2018 में किर्गिस्तान के बिशकेक में 65 किग्रा का खिताब जीता था। मेजबानी के लिए यह दुनिया में पहला मौका रहा है जिसमें सविता मोड़ 59 किलोग्राम वर्ग पिंकी 55 किलोग्राम वर्ग और निर्मला देवी 50 किलोग्राम वर्ग में अपने वजन वर्गों के फाइनल में पहुंचकर कम से कम रजत पदक पक्का कर दिया है । चीन के पहलवानों की अनुपस्थित में और जापान के अपने श्रेष्ठ पहलवानों को नहीं भेजने से चुनौती थोड़ी आसान लग रही है।

टूर्नामेंट में कैसा रहा दिव्या का सफर

एशियाई खेलों में कांस्य पदक जीतने वाली दिव्या ने 68 किलोग्राम के वर्ग में सबसे पहले कजाखस्तान की एलबिना कैरजेलिनोवा इनोवा को हराया। और फिर मंगोलिया की डेलगेरमा एंखसाइखान को पराजित किया । मंगोलियाई पहलवान के खिलाफ उसका डिफेंस कुछ कमजोर दिखा, लेकिन वह अपनी प्रतिद्वंदी को हराने में सफल रही। तीसरे दौर में दिव्या का सामना उजबेकिस्तान के एजोडा एसबर्जेनोवा के साथ हुआ। अभी चुनौतियों को जीतकर आगे बढ़ी और उसने देश का नाम रोशन किया।