Make in India : ओडिशा में 9वीं के छात्र ने बनाई ऐसी मशीन कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने की तारीफ

0
68

भुवनेश्वर। ओडिशा(Odisha) के 9वीं कक्षा में पढ़ने वाले एक छात्र ने ऐसी मशीन बनाई है, जिसे देखकर रूस(Russia) के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन(Vladimir Putin) भी चकित रह गए। इस मशीन को देखकर पुतिन इस छात्र की तारीफ करते थक नहीं रहे। दरअसल, छात्र ने पानी की बर्बादी रोकने की मशीन बनाई है।

छात्र का नाम पी बिस्वनाथ पात्रा(P Biswanath Patra) है। छात्र ने डीप टेक्नोलॉजी एजुकेशन प्रोग्राम और नीति आयोग के अटल इनोवेशन मिशन कार्यक्रम(Atal Innovation Mission Programm) में अपने इनोवेशन का प्रदर्शन किया। यह कार्यक्रम रूस के शहर सोची(Sochi) में 28 नवंबर से आठ दिसंबर तक आयोजित किया गया थ। इस कार्यक्रम में रूसी राष्ट्रपति पुतिन बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए थे।

ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक ने छात्र के इस इनोवेशन के लिए एक ट्वीट कर बधाई दी है। सीएम पटनायक ने ट्विटर पर वह वीडियो भी पोस्ट किया, जिसमें पुतिन बिस्वनाथ के प्रोजेक्ट की तारीफ करते दिखाई दे रहे हैं। जो वीडियो सीएम ने पोस्ट किया है उसमें दिख रहा है कि पुतिन बिस्वनाथ के कार्य से प्रभावित हैं।

पुतिन कह रहे हैं कि वह चाहते हैं कि बिस्वनाथ जैसे और बच्चे भी भारत से रूस आकर कार्यक्रमों में शामिल हों। पुतिन कह रहे हैं कि आप जैसे बच्चों का यहां आना शानदार होगा। इसके बाद पुतिन सभी बच्चों से पूछते हैं कि बच्चों को सोची में अच्छा लगा? इसके जवाब में छात्र खुशी का इजहार कर रहे हैं।

क्या है ‘वाटर डिस्पेंसर’?

पी बिस्वनाथ पात्रा पिछले करीब एक साल से स्मार्ट वॉटर डिस्पेंसर बनाने के लिए मेहनत कर रहे थे। इस डिस्पेंसर की खासियत है कि पानी निकलने के बाद जो पानी बर्बाद होता है, उसे इसमें फिल्टर करने की व्यवस्था है। एक तरह से इसे पानी एटीएम कह सकते हैं। एक स्मार्ट वॉटर डिस्पेंसर 5000 से 7000 रुपये का होगा।

बता दें कि बिस्वनाथ पात्रा उन 25 छात्रों में से हैं, जिनका प्रोजेक्ट रूस के सोची में प्रदर्शन के लिए चुना गया था. वह ओडिशा के केंद्रीय विद्यालय में पढ़ते हैं। वह ओडिशा से एकमात्र छात्र हैं, जिन्हें इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए रूस जाने का मौका मिला था।