इस पनडुब्बी के एक प्रहार से तबाह हो जाएगा पूरा शहर, समुद्र में उठेंगी 300 फीट ऊंची लहरें, जानें किसने बनाई यह पनडुब्बी और क्या है इसका नाम

0
83

मास्को । जब वो समुद्र में चलती है तो विरोधियों के सीने की धड़कन तेज हो जाती हैं । उसके एक प्रहार से भी कोई भी शहर पूरी तरह तबाह हो सकता है । उसमें लगे टारपीडो (Torpido ) समुद्र में रेडियो एक्टिव (redio active ) जलजला ला सकते हैं । अगले कुछ दशकों में हो सकता है कि यह पनडुब्बी (submarine ) भी भारत की सुरक्षा (Safty of India ) का हिस्सा बने। दरअसल इस पनडुब्बी का नाम है बेलगोरोड़ ( ) । पनडुब्बी की लंबाई 604 मीटर है। इसमें 7 टारपीडो लगे हैं ,जो लगभग 2 मेटाटन का विस्फोट कर सकते हैं । 2 मेटाटन को आप इस तरह समझ सकते हैं कि अमेरिका ने जापान के हिरोशिमा पर जो लिटिल ब्वॉय नामक बम गिराया था , यह उससे 130 गुना ज्यादा ताकतवर होगा । ऐसे में इसकी विध्वंसक क्षमता का अंदाजा आसानी से लगाया जा सकता है । यह पनडुब्बी 80 नॉटिकल मील प्रति घंटे की रफ्तार से भाग सकती है । रूस की यह पनडुब्बी अब तक की दुनिया की सबसे लंबी पनडुब्बी है । भारत तकरीबन 3 अरब डालर की लागत से अब तक तीन पनडुब्बी रूस से लीज पर ले चुका है। ऐसे में उम्मीदें भी है कि भविष्य में ऐसी उम्मीद है बन रही है कि भारत भी इस पनडुब्बी को अपनी नौसेना में लीज पर ही सही शामिल करने पर विचार कर सकता है । भारतीय सेना के तकरीबन 60% हथियार रूसी हैं। इससे भारत और रूस के सामरिक संबंधों का अंदाजा आसानी से लगाया जा सकता है।